अब और कोई विकास दुबे पैदा न हो

एक दुर्दांत विकास का तो अंत हो गया अब ऐसा कुछ करना होगा कि कोई और विकास दुबे पैदा न हो। इसके लिए सरकार को, पुलिस को, राजनीति नेताओं को और हम सब को भी सतर्क रहना होगा। जिम्मेदारी सभी की समान ही है।

आगरा का नाम बदलने का शोर फिर शुरू

इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदलने के बाद अब उ प्र सरकार ताज नगरी आगरा का नाम बदलने की योजना पर गम्भीरता से विचार कर रही है। शासन ने इसके लिए आगरा विश्वविद्यालय से सुझाव व साक्ष्य मांगे हैं। विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग से किसी ऐतिहासिक नाम भेजने का सुझाव मांगा गया है, साथ ही इस संबंध में इतिहास विभाग से साक्ष्य भी मांगे गए हैं। ऐसा प्रतीत हो रहा

सीवर लाइन की सफाई में रोबोट का इस्तेमाल

आगरा शहर में भी अब चोक सीवर लाइन की सफाई में पहली बार रोबोट का इस्तेमाल किया जाएगा। आशा है इससे नगर में ध्वस्त पड़ी सीवर लाइनों को ठीक किया जा सकेगा। जगह जगह सीवर लाइन चोक होने के कारण गंदा पानी व गंदगी सड़कों पर दिखाई देना अब बंद हो जाएगा। नई लाइनें बिछाने के साथ ही चोक सीवर लाइन को ठीक कराया जाएगा। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ( एसटीपी

अब ताजमहल बदनाम कर रहा आगरा को

आगरा को देश ही नहीं विश्व के मानचित्र पर ताजमहल के कारण ही जाना जाता है। पूर्वोत्तर, दक्षिण और कश्मीर के प्रान्तों को तो छोड़िए बिहार झारखंड के लोग भी आगरा को नहीं पहचानते जब तक ताजमहल का जिक्र न किया जाए। ताजमहल के कारण देश विदेश के आम पर्यटक ही नहीं, जो राष्ट्राध्यक्ष या वी वी आई पी भारत भ्रमण पर आते हैं तो आगरा आ कर ताजमहल देखने

ध्रुव जुरैल: कारगिल युध्द सैनिक का बेटा क्रिकेट में रोशन कर रहा है आगरा का नाम

अंडर – 19 यूथ एशियन चैंपियनशिप जीतने के बाद पहली बार कल शाम 17 सितंबर को जब ध्रुव जुरैल आगरा पहुंचे तो उनके निवास डिफेंस कॉलोनी के लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया। उनके कोच परवनेंद्र यादव का भी इस अवसर स्वागत किया गया। ध्रुव जुरैल ने कहा कि उनकी सफलता का श्रेय उनके पिता नेम सिंह जुरैल और मां रजनी जुरैल को है। शहरवासियों का आशीर्वाद भी हमेशा उनके

सिंगल यूज़ प्लास्टिक से मुक्ति : कुछ विकल्प तो हो

आगरा शहर सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक लगाने के लिए कटिबद्ध हो रहा है। अनेक सामाजिक व पर्यावरण संस्थाओं ने इस संबंध में मुहिम चला रखी है। आगरा में रामलीला महोत्सव के दौरान आयोजित होने वाली जनकपुरी के आयोजकों ने जनकपुरी के 3 दिवसीय समारोह को प्लास्टिक फ्री रखने का निर्णय किया है। आगरा में 11 अक्टूबर से 20 अक्टूबर तक आयोजित होने जा रहे वृहद पुस्तक मेले व साहित्योत्सव

आगरा के गौरव: काव्य शिरोमणि द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी

आज आगरा नगर सुप्रसिद्ध बाल साहित्यकार द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी की 22 वी पुण्यतिथि पर उन्हें नमन कर रहा है। आगरा को यह गौरव प्राप्त है कि माहेश्वरी जी जैसे वरिष्ठ साहित्यकार ने यहाँ जन्म लिया और संपूर्ण देश में आगरा का नाम रोशन किया। द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी बाल गीतायन को रचकर बच्चों के गांधी के नाम से मशहूर हो गए। बाल गीतायन में उन्होंने बच्चों को 176 कविताओं का तोहफा

आगरा में है एक बेबी ताज भी

आगरा में विश्वप्रसिद्ध ताजमहल तो है ही,परंतु आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि यहाँ एक बेबी ताज भी है। यह है एत्मादुद्दौला। शहर के मध्य यमुना किनारे बना हुआ यह स्मारक ताजमहल जैसी आकृति का नजर आता है। धवल संगमरमरी स्मारक होने के कारण इसे “बेबी ताज” के नाम से भी पुकारा जाता है। यहां के बाग, पीट्रा ड्यूरा पच्चीकारी, व कई घटक ताजमहल से मिलते हुए हैं। यह स्मारक

स्तुत्य : यहाँ हर रोज राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है

आगरा का अजीत नगर चौराहा देश के उन चुनिंदा स्थलों में से एक है जहां प्रतिदिन राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है। सन 2018 के गणतंत्र दिवस पर प्रारम्भ की गई यह परंपरा आज तक अनवरत जारी है । झंडारोहण कार्यक्रम में हर वर्ग के लोग आते हैं। हर दिन एक अतिथि को आमंत्रित किया जाता है, जो ध्वजारोहण करता है। इस कार्यक्रम में अब तक प्रशासनिक अधिकारी, पुलिस अधिकारी, सेना